Train में रात के समय फोन को चार्ज क्यों नहीं करना चाहिए l देखिए video

Train में रात के समय फोन को चार्ज क्यों नहीं करना चाहिए l देखिए video

अगर आप होली मना कर ट्रेन से काम पर वापसी कर रहे हैं तो यह खबर आपके लिए है क्योंकि भारतीय रेलवे ने अपने नियमों में बड़ा बदलाव किया है. इसके तहत यात्री रात के समय में ट्रेन में मोबाइल फोन या लैपटॉप को चार्ज नहीं कर सकेंगे. इसके मुताबिक रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक चार्जिंग सप्लाई को बंद रखा जाएगा. रेलवे ने यह फैसला ट्रेन में आग लगने की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए लिया है ताकि किसी तरह की अनहोनी से बचा जा सके.

बता दें कि कुछ दिनों पहले दिल्ली-देहरादून शताब्दी एक्सप्रेस में आग लग गई थी. हालांकि इससे किसी यात्री को कोई नुकसान नहीं पहुचा लेकिन इससे भारतीय रेलवे चौकन्ना हो गया है जिसके बाद से लगातार सख्ती बर्ती जा रही है और अब रेलवे ने चार्जिंग पॉइंट को बंद रखने का फैसला लिया है. बिजनेस टुडे की खबर के मुताबिक वेस्टर्न रेलवे के चीफ पब्लिक रिलेशन ऑफिसर सुमित ठाकुर ने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने रात 11 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक चार्जिंग पॉइंट्स को ऑफ रखने का ऐलान किया है.

बड़ी खबर: ट्रेन में यात्रा के दौरान रात में नहीं चार्ज कर सकेंगे मोबाइल और लैपटॉप, जानें क्या है कारण

पिछले कुछ समय में चार्जिंग के दौरान लंबी दूरी के ट्रेनों में लैपटॉप और मोबाइल फोन के ओवरहीट होने के कारण आग लगने की घटना सामने आई हैं, इसलिए रेलवे ने यह फैसला लिया है. ठाकुर ने बताया कि इसे जल्द ही सभी रेलवे जोन में भी लागू कर दिया जाएगा.

एक रेलवे अधिकारी ने बताया कि एसी मकैनिक समेत सभी कर्मचारियों को रात में चार्जिंग पॉइंट को बंद करने को लेकर सूचित कर दिया गया है. इसके साथ ही अधिकारियों ने औचक निरीक्षण करने और खामी पाए जाने पर कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का भी फैसला किया है.

इसके साथ ही रेलवे ट्रेन में स्मोक करने वाले स्मोकर्स पर भी शिकंजा कसने का प्लान बना रहा है. भारतीय रेलवे ऐसे अपराधों को लेकर सजा बढ़ाने का प्रस्ताव करने की योजना बना रहा है. अभी ट्रेन में स्मोकिंग करने वाले लोगों को रेल अधिनियम की धारा 167 के तहत गाड़ियों के अंदर धूम्रपान करने वालों को दंडित किया जाता है. धूम्रपान करने वाले यात्रियों को 100 रुपये तक का जुर्माना लगता है.नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *