ट्रेन के डिब्बों में ये लाइन क्यों होती हे ? सिर्फ डिजाइन के लिए नहीं होती ट्रेन पर लगी ये धारियां l देखिए video

ट्रेन के डिब्बों में ये लाइन क्यों होती हे ? सिर्फ डिजाइन के लिए नहीं होती ट्रेन पर लगी ये धारियां l देखिए video

देश में लाखों लोग रोजाना भारतीय रेल से यात्रा करते हैं. कोई लंबा सफर तय कर देश के किसी भी कोने में पहुंचना हो या फिर रोजाना ऑफिस या कॉलेज पहुंचना, लाखों लोग रेल का इस्तेमाल करते हैं. आपने भी रेल का सफर किया ही होगा, लेकिन क्या आपने रेल परिसर या रेल में बने कुछ अटपटे निशानों पर कभी गौर किया है? ये निशान क्यों बनाए जाते हैं और इनका क्या मतलब होता है? आज हम आपको कुछ ऐसे ही निशानों के बारे बताएंगे और बताएंगे की आखिर इन निशानों का क्या मतलब होता है.

बोगियों पर बनी पीली या सफेद लाइनें

Know what is the meaning of these marks on the train! Train Facts: जानिए क्या होता है रेल पर बने इन निशानों का मतलब!

आपने अक्सर ट्रेन की कुछ बोगियों पर बाहर की ओर टॉयलेट के ठीक ऊपर पीली या सफेद लाइनें बनी देखी होंगी. शायद आप भी इन्हें डिजाइन समझने की भूल कर बैठे होंगे, पर असल में ये लाइन डिजाइन के लिए नहीं बनी होतीं, बल्कि ये लाइन दर्शाती हैं बिना रिजर्वेशन वाली जनरल बोगी को जिसे सामान्य श्रेणी भी कहा जाता है. यह जानकारी कोरा (Quora) पर एक यूजर ने एक सवाल का जवाब देते हुए दी. इन लाइनों की मदद से आप बिना पढ़े भी आरक्षित और अनारक्षित बोगियों का पता लगा सकते हैं. आपको बता दें, इस डिब्बे में यात्रियों की भीड़ होने की वजह से हर साइड 3 दरवाजे होते हैं. जिससे स्टेशन पर लोग आसानी से उतर सकें और डिब्बा जल्दी खाली हो जाए.

आखिरी डिब्बे पर X का निशान

ट्रेन के आखिरी डिब्बे पर आपने देखा होगा एक बड़ा सा X का निसान बना होता है. इसका क्या मतलब होता है? दरअसल, ये X जैसा क्रॉस सिर्फ ट्रेन के आखिरी डिब्बे पर ही बना होता है जिसका मतलब यह होता है कि यह ट्रेन का आखिरी डिब्बा है और पूरी ट्रेन जा चुकी है. स्टेशन पर तैनात रेलवे कर्मचारियों के लिए ये निशान बनाया जाता है जिसे पूरी ट्रेन के गुजर जाने के बाद वह हरी झंडी दिखाता है.नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *