तोता के बारे में मजेदार रोचक तथ्य और जानकारी l तोते के बारे में ये नहीं पता होगा | देखिए video

तोता के बारे में मजेदार रोचक तथ्य और जानकारी l तोते के बारे में ये नहीं पता होगा | देखिए video

तोता एक बहुत सुन्दर और घरेलु पक्षी है। तोते का वैज्ञानिक नाम सिटाक्यूला क्रेमरी है। इसके पंख हरे रंग के होते हैं। इसकी एक लाल रंग की चोंच होती है। इसकी चोंच मुड़ी हुई होती है। तोते की गरदन पर काले रंग के वृत्त होते हैं। कुल मिलाकर यह एक बेहद आकर्षक पक्षी होता है। यह दाने, फल, पत्ते, बीज, आम एवं उबले चावल इत्यादि खाता है। तोता, पक्षियों के सिटैसी गण के सिटैसिडी कुल का पक्षी है, जो गरम देशों का निवासी है। इसकी आवाज़ छोटे बच्चे भी पहचानते हैं। यह मनुष्यों की बोली की नक़ल बखूबी कर लेता है।

तोता के बारे में कुछ जानकारी

तोता एक शाकाहारी पक्षी है। तोते का मुख्य भोजन फल और तरकारी है, जिसे ये अपने पंजों से पकड़कर खाते रहते हैं। मुख्यतः तोते हरी मिर्च को बहुत प्रेम से खाना पसन्द करते है, और कुछ फल जैसे- अमरुद आम भी खाते है। तोते की बोली कड़ी और कर्कश होती है, लेकिन कुछ सिखाए जाने पर तोता एकपत्नीव्रती पक्षी है। तोते की आवाज़ तीखी क्रीक क्रीक क्रीक, चाहे उड रहा हो या बैठा हो यह शोर मचाता ही है।

तोते झुंड में रहने वाले पक्षी हैं, जिनके नर मादा एक जैसे होते हैं। इसकी मादा पेड़ के कोटर या तनों में सुराख काटकर 1 से 12 तक सफ़ेद अंडे देती है। तोते के मुख्य निवास स्थान ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड हैं, जहाँ के अनेक प्रकार के रंगीन तोते प्रति वर्ष पकड़कर विदेशों में भेजे जाते हैं। तोता पूरे भारत में कहीं भी आसानी से दिख जाता है चाहे वह हिमालय की तराई हो या राजस्थान के कम पेडों वाले इलाक़े, दक्षिण भारत से लेकर उत्तर भारत के मैदानी इलाक़ो तक पैराकीट दुनिया भर के सभी गर्म इलाक़ों में पाए जाते हैं।

Parrot – तोता पक्षियों के सिटैसी गण के सिटैसिडी कुल का पक्षी है। तोते बहुत सक्रिय होते हैं और इन्हें काफ़ी स्थान की आवश्यकता होती है। इनमें से अधिकांश अन्य पक्षियों के प्रति आक्रामक होते हैं। ख़ासतौर पर अगर ये जोड़े में हों। हालांकि इनकी आवाज़ पतली होती है, इनमें से कुछ अच्छे नक़लची बन जाते हैं। प्रकृति में स्वतंत्र रूप से और पक्षीगृहों में इनकी कई रंगों की क़िस्में तथा प्रजातियों पायी जाती है। छोटे आकार और चौड़ी पूँछ वाले तोते सेफ़ोटस की पाँच प्रजातियाँ हैं। जिनका कोई विशेष समूह नाम नहीं है। मादा रोज़ेल्ला नर की अपेक्षा सुस्त होती है। पिंजरे में रखने के लिए लोकप्रिय पक्षी रोज़ेल्ला मज़बूत और सुंदर होते हैं, लेकिन अन्य प्रजातियों के प्रति ये बहुत झगड़ालू होते हैं।

तोते की इतिहास की बात करे तो, तोते को पहले प्राचीन मिस्र और फिर भारतीयों और चीनी द्वारा पालतू जानवरों के रूप में रखा गया था। उन्हें 300 ईसा पूर्व में यूरोप में लाया गया था, अक्सर अमीरों या कुलीनों द्वारा रखा जाता था। प्रसिद्ध लोग जिनके पास पालतू तोते थे, उनमें अरस्तू, किंग हेनरी VIII, मार्को पोलो, क्वीन इसाबेला, मैरी एंटोनेट, क्वीन विक्टोरिया, मार्था वाशिंगटन, टेडी रूजवेल्ट और स्टीवन स्पीलबर्ग शामिल हैं।

weird disease of parrot - तोते की अनोखी बीमारी

तोता का बारे में रोचक बातें

1). ऐसा माना जाता है कि तोता मनुष्य द्वारा पाला जाने वाला सबसे पुराना और पहला जीव है।

2). मनुष्यों की बोली की हूबहू नकल करने के मामले में अफ्रीका का स्लेटी तोता सबसे प्रसिद्ध है।

3). तोते के बारे में एक खास बात हैं की तोता सबसे चतुर पक्षी माना जाता है।

4). कभी भी तोता को चॉकलेट न दे, क्यूंकि तोता के लिए चॉकलेट ज़हरीली होती है।

5). तोता की अब तक 350 प्रजातियां खोजी जा चुकी है।

6). तोते बड़े शोर मचाने वाले पक्षी होते है और यह हमेशा समूह में रहना ही पसंद करते है।

7). तोता का जीवनकाल करीब 10-75 साल का होता है।

8). क्या आप जानते हैं तोता के चिल्लाने की आवाज़ करीब 1 मील दूरी से सुनी जा सकती है।

9). तोते एकमात्र ऐसे पक्षी है जो अपनी पैर की उंगलियों से अपने मुह में खाना पहुँचा सकते है।

10). दुनिया में सबसे छोटे तोते “Pacific Parrotlet” होते है।

11). कुछ तोते खाना ढूंढ़ने के लिए हर रोज़ करीब 1000 किलोमीटर तक की उड़ान भर सकते है।

12). तोते अपना घर अक्सर किसी पेड़ के गड्ढे में ही बनाना पसंद करते है। नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *