Sneakers जूतों में ये एक्स्ट्रा छेद क्यों होते है ? देखिए video

Sneakers जूतों में ये एक्स्ट्रा छेद क्यों होते है ? देखिए video

मैदान में दौड़ तो कोई भी लगा सकता है मगर प्रोफेशनल धावक (Professional Runners) बनना हर किसी के बस की बात नहीं है. धावक बनने के लिए कड़ी मेहनत लगती है. दौड़ने की ट्रेनिंग में धावक (Runner Training) के योगदान के साथ-साथ उसके जूते भी अहम किरदार निभाते हैं. अच्छी फिटिंग वाले जूतों को पहनकर ही आसानी से दौड़ा जा सकता है. अगर आपने कभी रनिंग शूज को ध्यान से देखा हो, तो आप पाएंगे कि उनके फीते डालने वाली जगह पर अतिरिक्त छेद (Why Shoes have extra shoelace holes?) होते हैं. मगर क्या आप इसका कारण जानते हैं?

आम जूतों में फीते डालने के लिए छेद एक लाइन में बने होते हैं जिनमें लोग आसानी से फीता (Sports Shoes Have Extra Shoelace Holes) डालकर उसका इस्तेमाल कर सकते हैं मगर दौड़ने में इस्तेमाल किए जाने वाले जूतों में दो एक्स्ट्रा छेद कुछ पीछे, टकने के पास बने होते हैं जिसका इस्तेमाल धावक करते हैं मगर कई लोगों को इस छेद के होने का कारण नहीं पता होता है. वैसे तो इसका काम सरल है मगर ये रनर्स के बड़े काम आता है.

जूते के अतिरिक्त फीते के छेद बड़े काम के होते हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

बहुत काम का होता है एक्स्ट्रा छेद

इन छेद को आइलेट कहते हैं. इनमें फीते डालकर जूते को टाइट किया जाता है. इस फीते से जूता पैरों में टाइट हो जाता है और चलने फिरने में, दौड़ने में या कोई एक्सरसाइज करने से पैर इधर-उधर नहीं भागते हैं. इस तरह इन आइलेट्स से पैरों पर गंभीर चोटें लगने से भी बचाया जा सकता है. कई बार जूते उंगलियों के पास से ढीले होते हैं या फिर अच्छी फिटिंग के लिए लोग एक साइज छोटे जूते ले लेते हैं जिससे पैरों पर छाले आ जाते हैं. ऐसे में अगर फिटिंग के जूतों को टाइटनेस देने के लिए इन छेदों का इस्तेमाल किया जाता है.

पैरों से स्थिर रखने में छेद करता है मदद

रन शू स्टोर की वेबसाइट के अनुसार लेस को लॉक करने से पैरों पर पड़ने वाला दबाव कम होकर जूते के ऊपरी लेस पर आ जाता है. ये टेंशन यानी दबाव लेस पर जितना ज्यादा रहता है उतना ज्यादा पैर की एड़ी अपनी जगह पर रहती है और पैर जूते के अंदर इधर-उधर नहीं भागता है. कपड़ों से लेकर जूतों तक पर कई बार ऐसी चीजें बनी होती हैं जिसके पीछे का करण हमें नहीं पता होता मगर वो लोगों के लिए बहुत जरूरी होते हैं. इसी तरह क्या आप जानते हैं कि Jeans की जेब के ऊपर क्यों होती है एक छोटी पॉकेट? 100 साल पहले लोग करते थे खास तरह से इस्तेमाल.नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *