जूतों के पीछे ये जो फीता लगा होता है, उसका क्या काम होता है? ये रहा जवाब

जूतों के पीछे ये जो फीता लगा होता है, उसका क्या काम होता है? ये रहा जवाब

आपने देखा होगा कि कई जूतों के पीछे एक फीता लगा होता है यानी एक लूप होता है. उम्मीद है कि आपके जूतों में भी होगा. लेकिन, कभी आपने इसका इस्तेमाल किया है? शायद ही आपने ऐसा किया होगा. लेकिन, कभी आपने सोचा है कि आखिर ये क्यों होता है और इसका क्या काम होता है. ऐसे में आज जानते हैं कि इसका क्या इस्तेमाल होता है और इसका किन-किन तरीकों से इस्तेमाल किया जा सकता है.

अब इसका कई तरह से इस्तेमाल किया जाता है और लोग अपनी जरूरत के हिसाब से इसका उपयोग करते हैं. कई लोग इसे जूते को टाइट बांधने के लिए करते हैं. इस स्थिति में शू लेस को पीछे से लाकर आगे बांधा जाता है ताकि लेस लंबी हो तो कोई दिक्कत ना हो. अक्सर ट्रेकिंग के समय इसका यूज ज्यादा होता है.

 

जूते के पीछे जो ये फीता लगा होता है, उसे पूल लूप (Pull Loop) कहते हैं. कहा जाता है कि 19वीं शताब्दी में अमेरिका में इसे काम में लेना शुरू किया गया था और अब यह फैशन भी बन गया है.

वैसे तो इसका इस्तेमाल जीते पहनने के लिए किया जाता है. इसके जरिए आप आसान से जूते पहन सकते हैं और आपने देखा होगा कि बूट्स में यह ज्यादा इस्तेमाल होता है. जब आप जूते में पांव डालते हैं तो इसके जरिए जूते को अच्छे से एडजस्ट कर सकते हैं, इसलिए इसका इस्तेमाल किया जाता है.

जूते के पीछे जो ये फीता लगा होता है, उसे पूल लूप (Pull Loop) कहते हैं. कहा जाता है कि 19वीं शताब्दी में अमेरिका में इसे काम में लेना शुरू किया गया था और अब यह फैशन भी बन गया है.

अब इसका कई तरह से इस्तेमाल किया जाता है और लोग अपनी जरूरत के हिसाब से इसका उपयोग करते हैं. कई लोग इसे जूते को टाइट बांधने के लिए करते हैं. इस स्थिति में शू लेस को पीछे से लाकर आगे बांधा जाता है ताकि लेस लंबी हो तो कोई दिक्कत ना हो. अक्सर ट्रेकिंग के समय इसका यूज ज्यादा होता है.

इसके अलावा लोग इसे टांगने में इस्तेमाल करते हैं. जैसे आप कहीं जा रहे हैं और आपके बैग में जगह नहीं है तो लोग इसके जरिए जूते बैग के बांध लेते हैं. कई बार पहाड़ों पर चढ़ने वाले लोग इस ट्रिक का इस्तेमाल करते हैं.नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *