एक शख्स ने घर पर हीं बना डाला एक पहिया वाला इलेक्ट्रिक स्कूटर, जानिए कैसे l देखिए video

एक शख्स ने घर पर हीं बना डाला एक पहिया वाला इलेक्ट्रिक स्कूटर, जानिए कैसे l देखिए video

समय के साथ गाङियों की संख्या बढ़ती हीं जा रही है जिसका कारण है कि लोग खुद के पास कार रखना प्राथमिक बात समझने लगते हैं। आज के समय में कार मनुष्य के जीवन में अत्यंत ही महत्वपूर्ण स्थान रखती है। मनुष्य इसका उपयोग यातायात के साधन के रूप में करते है।

जब भी हम वाहनों के बारे में सोचते हैं, तो हमारे दिमाग में दो पहियों वाली मोटरसाइकिल, स्कूटर या चार पहियों वाली कार ही आती है। वाहन चाहे कोई भी उसका सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा उसकी पहिया होता है। दुनिया भर के निर्माता वाहनों को एक नई पहचान देने के लिए एक पहिए वाला स्कूटर और मोटर बाइक लेकर आए हैं।

एक पहिया वाला इलेक्ट्रिक स्कूटर

Vlogger made one wheel electric scooter

भारत में भी एक ऐसे निर्माता है, जिन्होंने सेल्फ बैलेंसिंग इलेक्ट्रिक स्कूटर बनाया है। आज हम आपको एक पहिया वाला इलेक्ट्रिक स्कूटर के बारे में बताएंगे। क्रिएटिव ने इस वीडियो को अपने यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया है। इस वीडियो में आसानी से देखा जा सकता है कि सेल्फ बैलेंसिंग इलेक्ट्रिकल स्कूटर को स्क्रैच से बनाया गया है। उन्होंने स्कूटर की पूरी डिजाइन कार्डबोर्ड से की है, ताकि कहीं कुछ परिवर्तन करना हो तो दिक्कत ना हो।

स्कूटर में मोटर वाला चौड़ा पहिया इस्तेमाल किया गया है

व्लगेर (Vlogger) ने जब डिजाइन को अंतिम रूप दिया तो वह धातु से स्थानांतरित हो गया। एक बड़ी धातु की शीट ली और उस पर कार्डबोर्ड के डिजाइन की नकल की। उसके बाद एक उपकरण का उपयोग से उन्होंने चादरों को काट दिया और पहियों के लिए मेहराब बनाने के लिए टुकड़ों को एक साथ जोड़ दिया। आपको बता दें कि इस स्कूटर में चौड़ा पहिया इस्तेमाल किया गया है, जिससे आमतौर पर मोटर बनाया जाता है।

सीट के नीचे बनाई गई है बैटरी पैक

Vlogger made one wheel electric scooter

व्लगेर के अनुसार स्लीक वाले की तुलना में व्यापक पहियों को संतुलित करना आसान है। इस स्कूटर में एक सीट बनाई गई है जिसके नीचे बैटरी पैक को रखने के लिए स्टोरेज बनाया गया है। स्कूटर में एक ऐसा डिजाइन था, जो पुराने स्कूटर जैसा था। हैंडलबार और हेडलैंप यूनिट को स्कूटर से ही उधार लिया गया था। उसके बाद पहिया को ठीक करने के लिए धातु का पाइप बनाया गया था, जो हैंडल बार को पकड़ कर रखता था।

स्कूटर में सेंसर लगाना सबसे महत्वपूर्ण है

सब सेट करने के बाद सबसे महत्वपूर्ण स्कूटर में सेल्फ बैलेंसर सेंसर लगाया गया। यह घटक स्कूटर को एक पहिया होने पर भी ऊपर रहने में मदद करता है। स्कूटर में सेंसर को ठीक से स्थापित करना बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह समग्र अंशांकन को प्रभावित करता है। सेंसर के तार का एक सेट पहियों से जुड़ा होता है और दूसरा सेट थ्रॉटल केबल से जुड़ा है। उसके बाद पैनलों को नीचे ले जाकर पूरे स्कूटर को पीले रंग से पेंट कर दिया जाता है। नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *