पायलट्स दाढ़ी क्यों नही रखते है?

पायलट्स दाढ़ी क्यों नही रखते है?

अगर आप ने फ्लाइट में यात्रा की होगी तो एयरपोर्ट पर पायलट्स को जरूर देखा होगा. उनकी यूनीफॉर्म के अलावा एक और चीज होती है जो उन्हें एक समान बनाती है. वो है पायलट्स का क्लीन शेव (Clean Shave Pilots) चेहरा. ऐसा बहुत कम हुआ होगा कि आपने किसी पायलट को दाढ़ी में देखा होगा और अगर देखा भी होगा तो उनकी दाढ़ी ट्रिम (Why Pilots Keep Trim or No beards?) और छोटी ही नजर आई होगी. मगर सवाल ये उठता है कि पायलट्स के लिए छोटी दाढ़ी ही रखना या क्लीन शेव (Why Pilots Remain Clean Shave?) रहना क्यों जरूरी होता है?

ऐसा नहीं है कि पायलट्स दाढ़ी नहीं रख सकते. अलग-अलग एयरलाइन्स के अपने अलग-अलग नियम होते हैं. यही वजह है कि कुछ पायलट्स छोटी दाढ़ी रखते हैं तो कुछ बिल्कुल भी नहीं रखते. लेकिन पायलट्स फिल्मी हीरोज की तरह लंबी और स्टाइलिश दाढ़ी (Why Pilots cannot keep long beards?) क्यों नहीं रख सकते? उन्हें ऐसा करने से क्यों रोका जाता है? इसका जवाब है यात्रियों की सुरक्षा. पायलट्स की दाढ़ी से जुड़ा ये प्रचलित कारण है जो हम यहां बताने जा रहे हैं मगर इस कारण की न्यूज18 इंडिया पुष्टि नहीं करता है.

पायलट के दाढ़ी ना रखने के पीछे बहुत महत्वपूर्ण कारण होता है. (प्रतीकात्मक फोटो)

प्लेन के अंदर हो सकती है ऑक्सीजन की कमी

हवाई जहाज काफी ऊंचाई पर उड़ते हैं और ऐसे में प्लेन से जुड़े हर कर्मचारी को हर परिस्थिति के लिए तैयार होने की जरूरत होती है. मगर इनमें से सबसे बुरी परिस्थिति तब आती है जब ऊंचाई पर पहुंचकर प्लेन के अंदर ऑक्सीजन की कमी हो जाती है. प्लेन के अंदर हवा के दबाव को आम लोगों के हिसाब से सेट किया जाता है जो बाहर के दबाव से ज्यादा होता है. मगर ज्यादा ऊंचाई पर जाने के बाद ये संभावना हो सकती है कि केबिन के अंदर की हवा का दबाव कम होने लगे.

मास्क पहनने में हो सकती है पायलट्स को परेशानी

हवा का दबाव कम होने पर यात्रियों समेत फ्लाइट के सभी कर्मियों को ऑक्सीजन मास्क पहनना पड़ता है. पायलट्स को भी ऑक्सीजन मास्क पहनाया जाता है. ऐसे में अगर उनकी दाढ़ी बढ़ी हुई रहेगी तो उन्हें मास्क लगाने में परेशानी होगी और मास्क सही तरीके से चेहरे पर फिट नहीं बैठेगा. इस परिस्थिति में ऑक्सीजन की कमी से पायलट की जान भी जा सकती है और अगर पायलट की जान पर बन आई मतलब सारे यात्रियों की जान पर खतरा मंडराने लगेगा. हालांकि एक कारण ये भी है कि प्राइवेट एयरलाइन्स अपने पायलेट्स और अन्य कर्मियों को प्रेजेंटेबल बनाना चाहते हैं जिससे यात्रियों पर अच्छा इंप्रेशन पड़े. नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *