भारत में समुद्र के खारे पानी से कैसे बनता है नमक, जानिए इससे जुड़ी सभी बातें…देखिए video

भारत में समुद्र के खारे पानी से कैसे बनता है नमक, जानिए इससे जुड़ी सभी बातें…देखिए video

नमक, आपके डाइनिंग टेबल पर सजी हर डिश का स्‍वाद बढ़ाने के लिए सबसे जरूरी चीज. अगर आपने खाने में नमक नहीं डाला मिलाया तो आपने चाहे कितनी ही मेहनत से खाना क्‍यों न बनाया हो, उसका कोई मोल नहीं रह जाता है. लेकिन कभी आपने सोचा है कि जो नमक आप स्‍वादानुसार खाने में मिलाते हैं, वो आखिर बनता कैसे है. जानिए आपके किचन और डाइनिंग टेबल पर सजा नमक बनाने की प्रक्रिया क्‍या है.

सोलर सॉल्‍ट प्रोडक्‍शन

समंदर के पानी से नमक बनता है और इसे सोलर साल्‍ट प्रोडक्‍शन नाम दिया गया है. नमक बनाने की यह सबसे पुरानी प्रक्रिया है. इस प्रक्रिया में कुछ छिछले तालाबों में समंदर के पानी को इकट्ठा कर लिया जाता है. इसके बाद सूरज की तेज रोशनी में ज्‍यादातर पानी भाप बनकर उड़ जाता है. इसके बाद तली में नमक इकट्ठा हो जाता है. इसे मशीन की मदद से इकट्ठा कर लिया जाता है. पानी के सूखने की प्रक्रिया में 8 से 10 दिन का समय लगता है. जैसे-जैसे पानी उड़ता जाता है, रेत और मिट्टी के साथ ही कैल्शियम कार्बोनेट नीचे बैठते जाते हैं. खारे पानी को पूरी ताकत के साथ एक तालाब से दूसरे तालाब में किया जाता है.

भारत में समुद्र के खारे पानी से कैसे बनता है नमक, जानिए इससे जुड़ी सभी बातें...

4 से 5 माह तक चलती है प्रक्रिया

मशीन से इकट्ठा करने के बाद नमक को धोया जाता है. इसके बाद इसे पैकेट में भरकर भेज देते हैं. नमक बनाने के लिए दो तरह के पॉन्‍ड्स को प्रयोग किया जाता है. पहला इवैपोरेशन पॉन्‍ड जहां पर समंदर यानी झील के खारे पानी को इकट्ठा किया जाता है ताकि वो इवैपोरेट हो सके. दूसरा पॉन्‍ड यानी क्रिस्‍टीलाइजिंग पॉन्‍ड, जहां पर वाकई में नमक तैयार किया जाता है. ये पॉन्‍ड 40 से 200 एकड़ तक के इलाके में फैले होते हैं. नमक बनाने की प्रक्रिया इन पॉन्‍ड्स पर चार से पांच माह तक चलती है.

गुजरात में होता है सबसे ज्‍यादा उत्‍पादन

भारत में गुजरात में सबसे ज्‍यादा नमक का उत्‍पादन होता है. यहां पर कच्‍छ के रण में 75 प्रतिशत तक नमक तैयार किया जाता है. इसके अलावा महाराष्‍ट्र, राजस्‍थान, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और ओडिशा में भी नमक का उत्‍पादन किया जाता है. सन् 1947 में जब भारत को आजादी मिली तो उस समय नमक की जरूरत को पूरा करने के लिए इसे आयात तक करना पड़ गया था. मगर आज भारत तीसरा सबसे बड़ा नमक उत्‍पादक देश है. अतिरिक्‍त नमक जापान और इंडोनेशिया जैसे देशों को निर्यात कर दिया जाता है.

तीसरा सबसे बड़ा उत्‍पादक देश

भारत से पहले अमेरिका और चीन में सबसे ज्‍यादा नमक का उत्‍पादन होता है. हर साल करीब 230 मिलियन टन नमक का उत्‍पादन भारत में होता है. पिछले 60 सालों में सॉल्‍ट इंडस्‍ट्री ने तेजी से कदम बढ़ाए हैं. आजादी के समय भारत, यूनाइटेड किंगडम और अदन जैसी जगहों से नमक का आयात करता था. 1947 में नमक का उत्‍पादन 1.9 मिलियन टन था जबकि अब इसमें 10 गुने से ज्‍यादा का इजाफा हुआ है. भारत में इस समय करीब 11799 सॉल्‍ट मैन्‍युफैक्‍चर्स हैं जबकि 6.09 लाख एकड़ जमीन पर नमक का प्रोडक्‍शन किया जाता है. नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *