मास्टर साहब पर छाई ‘मस्ती’, स्कूल में ही गाना गाते हुए लगे कमर मटकाने; देखिए वीडियो

मास्टर साहब पर छाई ‘मस्ती’, स्कूल में ही गाना गाते हुए लगे कमर मटकाने; देखिए वीडियो

शिक्षकों को गुरू माना जाता है और उन्हें माता-पिता से भी ऊपर का दर्जा दिया गया है. वो शिक्षक ही होते हैं, जो बच्चों को जीवन में सही राह दिखाते हैं, उन्हें पढ़ा-लिखाकर एक काबिल इंसान बनाते हैं. हालांकि आजकल के शिक्षकों का पढ़ाने का तरीका थोड़ा बदल गया है. वे बच्चों को खेल-खेल में और नाचते-गाते हुए पढ़ाते नजर आते हैं, जिससे बच्चे कोई भी चीज जल्दी सीख सकें. हालांकि कुछ टीचर ऐसे भी होते हैं, पढ़ाने और खेल-खेल में बच्चों को कुछ सिखाने के बजाय खुद ही मस्ती में चूर हो जाते हैं. सोशल मीडिया पर आजकल ऐसे ही एक टीचर का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे देखने के बाद आपको हंसी भी आएगी और शायद गुस्सा भी आ जाए.

दरअसल, इस वीडियो में एक मास्टर साहब स्कूल में ही नन्हे छात्रों के सामने नाचना और गाना शुरू कर देते हैं और खूब कमर मटकाते नजर आते हैं. वीडियो में आप देख सकते हैं कि क्लासरूम के बाहर बरामदे में एक दरी बिछाई हुई है, जिसपर लाइन से बच्चे बैठे हुए हैं. वहीं उनके बगल में मास्टर साहब अमिताभ बच्चन की फिल्म ‘कुली’ का गाना ‘एक्सीडेंट हो गया रब्बा रब्बा’ गाते हुए एकदम मस्ती में कमर मटका रहे हैं, जबकि बच्चे उन्हें यूं नाचते-गाते हुए देख कर खूब हंस रहे हैं, मुस्कुरा रहे हैं. स्कूल में किसी टीचर को यूं कमर मटकते हुए शायद ही आपने देखा होगा. यह वीडियो लोगों को खूब पसंद आ रहा है, लेकिन साथ ही कुछ लोग स्कूल के अंदर यह नजारा देख कर गुस्से में भी हैं और टीचर पर कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं.

देखिए मास्टर साहब कैसे बच्चों के सामने झूम रहे हैं:

इस मजेदार वीडियो को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर @navalkant नाम की आईडी से शेयर किया गया है और वीडियो के अंदर मजाकिया अंदाज में लिखा है, ‘धरती का सीना चीर कर पैदा होते हैं ऐसे सरकारी मास्टर’. वहीं, पोस्ट के कैप्शन में लिखा है, ‘अमिताभ बच्चन तो रायता फैलाने के बाद अब #KBC के जरिए ज्ञान की बात कर रहे हैं. उधर पाठशाला में बच्चे मास्टर साहब से सीख रहे हैं- ‘दोनों जवानी की मस्ती में चूर…”.

वीडियो देखने के बाद यूजर्स तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं भी दे रहे हैं. एक यूजर ने लिखा है, ‘ये भी पढ़ाने का एक तरीका है. मने सिग्नल पर देख कर चलिए और सुरक्षित रहिए. भाव देखिए’ जबकि एक अन्य यूजर ने मास्टर साहब को ‘जोकर’ बताया है. इसी तरह कुछ यूजर्स ने इस टीचर पर कार्रवाई करने की बात कही है, तो एक अन्य यूजर ने लिखा है, ‘इसमें कौन सी कार्रवाई की बात है. बच्चे अगर अपने शिक्षक के साथ खुश हैं तो इसमें कैसी समस्या है. टीचर की परफॉर्मेंस से बच्चों के अंदर भी सेल्फ कॉन्फिडेंस विकसित होगा’.

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *