iPhone कम Megapixel में Android से बेहतर क्यों? | देखिए video

iPhone कम Megapixel में Android से बेहतर क्यों? | देखिए video

हम सभी लोग अपनी आम जिंदगी में जितने भी छोटे से लेकर बड़े बड़े सामानों का इस्तेमाल करते हैं वो हम जांच परख कर करते हैं की कौनसे सामान का quality अच्छा है, मतलब हम हर दिन एक-एक चीज का comparison करते हैं और जो हमे सबसे बेहतर लगता है हम उसी को खरीदते हैं। ये तो सिर्फ सामान की बात की मैंने लेकिन एक और भी ऐसी बात है जो हमारी ज़िन्दगी की सबसे बड़ी चीज होती है उसमे भी हम सब comparison करते हैं और वो हम तब करते हैं जब हम अपने लिए जीवन साथी चुनते हैं, तब भी हम कहीं ना कहीं किसी दुसरे इंसान के साथ उसका comparison जरुर करते हैं और जो सबसे बेहतर होता है हम उसी को अपने लिए चुनते हैं.

ठीक उसी तरह हर साल हजारों phone launch होते हैं और उन सभी के features एक से बढ़कर एक होते हैं जिसके वजह से हम सब confused हो जाते हैं की कौनसा phone लेना अच्छा रहेगा और कौनसा नहीं। कोई phone अलग-अलग कंपनी के होते हैं तो कोई अलग-अलग platform के. मोबाइल की कंपनिया तो बहुत सारे हैं लेकिन platform तिन है iOS, Android और Windows. Windows phones लोगों को ज्यादा पसंद नहीं आते इसलिए लोग ज्यादातर Android phone और iPhone को चुनना पसंद करते हैं।

लेकिन smartphone खरीदने से पहले सभी के मन में ये सवाल उठता है की आखिर iPhone या Android phone कौन सा smartphone सबसे बेहतर है? आज इस लेख में मै आपको इन दोनों के बारे में बताउंगी की किन मामलों में एक iPhone अच्छा होता है एक Android phone से और किन मामलों में एक Android phone अच्छा होता है एक iPhone से.

Android Phone iPhone के मुकाबले बेहतर कैसे है?

1. Customization

इस विषय का सबसे पहला point है customization जिसका मतलब ये है की आप अपने हिसाब से जब चाहे तब अपने Android phone को customize कर सकते हैं यानि की उसका look software wise बदल सकते हैं। जैसे की आप अपने phone में Widget लगा सकते हैं, उसका Theme बदल सकते हैं, wallpaper बदल सकते हैं, Icons को एक जगह से लेकर दूसरी जगह पर रख सकते हैं, launcher बदल सकते हैं, lock screen बदल सकते हैं इत्यादि।

लेकिन हम इनमे से बस कुछ चीजें iPhone के साथ कर सकते हैं जैसे सिर्फ wallpaper बदल सकते हैं और icons को screen पर एक जगह से दूसरी जगह रख सकते हैं इसके अलावा iPhone को Android phone की तरह customize बिलकुल भी नहीं कर सकते.

2. Device Option

Market में आपको iPhone से ज्यादा Android devices देखने को मिल जायेंगे. 3000 रुपये से लेकर 60,000 रूपए तक का Android device दुकानों में या फिर online मिलते हैं जहाँ से एक व्यक्ति अपने जरुरत और बजट के हिसाब से आसानी से एक Android phone ले सकता है लेकिन iPhone के उतने ज्यादा device option मौजूद नहीं हैं। हर साल iPhone के सिर्फ दो model देखने को मिलते हैं और इन phones की रक़म की शुरुआत ही 40,000-50,000 से होती है और ये phone सिर्फ online के जरिये ही खरीदे जा सकते हैं जिसके वजह से बहुत लोग iPhone नहीं खरीद पाते। तो Device Option के मामले में Android phone iPhone से काफी बेहतर है क्यूंकि हर range में आपको Android phone आसानी से मिल सकते हैं.

3. File Sharing

File Sharing की बात करें तो हम Android से file को बाहार और अन्दर दोनों तरीके से share कर सकते हैं, ये बहुत ही आसान और universal है हम जैसे चाहे वैसे files को share कर सकते हैं। जैसे की हम Bluetooth के जरिये एक Android phone से दुसरे Android phone के साथ file share कर सकते हैं, third party app जैसे की SHAREit की मदद से भी हम file दुसरे phone और computer के साथ share कर सकते हैं, phone के अन्दर एक app से दुसरे app के साथ भी आसानी से file share कर सकते हैं। तो जो sharing के options मिलते हैं किसी भी तरीके से वो एक Android phone में बहुत बेहतर है एक iPhone के मुकाबले.

4. Multitasking और Multi-window

Multitasking और Multi-window का मतलब है एक साथ एक से ज्यादा काम करना. जैसे की हम Android phones में Net में browse करने के साथ साथ song भी सुन सकते हैं उसके साथ साथ हम अपने दोस्तों को message भेज सकते हैं। तो इस तरह हम एक साथ बहुत सारे काम Android phone में कर सकते हैं लेकिन iPhone में हम ऐसा बिलकुल भी नहीं कर सकते. iPhone में हम एक वक़्त पर सिर्फ एक ही काम कर सकते हैं, दो काम एक साथ कर पाना iPhone में मुमकिन ही नहीं है. तो Multitasking के मामले में भी Android phone iPhone से बेहतर है.

5. Designs

Designs की बात करे तो Android phones आपको बहुत सारे अलग अलग design में अलग अलग रंग के market में देखने को मिल जाते हैं लेकिन iPhone के सभी models के design एक जैसे ही दीखते हैं उनमे कोई अंतर नहीं रहता तो ये कोई भी पता नहीं लगा सकता की वो phone iPhone का कौनसे model का है.नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *