अगर पब्लिक प्लेस पर करते हैं वाई-फाई का इस्तेमाल तो हो जाएं सावधान l देखिए video

अगर पब्लिक प्लेस पर करते हैं वाई-फाई का इस्तेमाल तो हो जाएं सावधान l देखिए video

फ्री वाई-फाई के कारण मोबाइल फोन डाटा चोरी हो सकता है। इसलिए पब्लिक प्लेस पर फ्री वाई-फाई इस्तेमाल करते समय कुछ बातों का ध्यान रखें। वरना आपका डाटा भी हो जाएगा पब्लिक। मोबाइल फोन इंटरनेट के बिना अधूरा है। बिना इंटरनेट के लोग फोन यूज करने के बारे में सोचते भी नहीं है। कई बार लोग अपने डेटा को बचाने के लिए वाई-फाई का इस्तेमाल करते हैं। अब तो कई घरों में वाई-फाई राउटर लगा होता है लेकिन पब्लिक प्लेस में अगर किसी को फ्री वाई-फाई मिल जाए तो बिना सोचे समझे वो उसका इस्तेमाल करने लगते हैं। अगर आप डाटा बचाने के लिए ऐसा करते हैं तो सावधान हो जाएं क्योंकि इससे आपकी प्राइवेसी को खतरा हो सकता है। आज हम आपको इसके बारे में बताने वाले हैं कि वाई-फाई के जरिए मोबाइल फोन को हैक होने से कैसे बचा सकते हैं।

हैकर्स इस तरह के करते हैं आपका मोबाइल फोन हैक

कई बार मोबाइल फोन हैक करने के लिए हैकर्स अपना वाई-फाई पासवर्ड फ्री रखते हैं। ताकि कोई दूसरा व्यक्ति आसानी से उससे कनेक्ट हो सकें। अगर कोई व्यक्ति उस वाई-फाई से अपने मोबाइल फोन को कनेक्ट करता है तो फोन का मैक एड्रेस और आईपी एड्रेस हैकर्स को शो होने लगता है।

हैकर्स उस फोन के डाटा को पैकेट्स के तरह ट्रांसफर करने लगता है। ऐसे कुछ तरीकों से हैकर्स आपके मोबाइल फोन का सारा डाटा अपने पास रख लेता है जिनका इस्तेमाल गलत कामों में किया जा सकता है।

हैकर्स से खुद को कैसे रखें सुरक्षित

अगर आप नहीं चाहते हैं कि आपका डाटा किसी भी व्यक्ति के पास जाए तो इसके लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा।

  • पब्लिक प्लेस पर फ्री वाई-फाई से कनेक्ट न करें।
  • अगर किसी इमरजेंसी में आपको पब्लिक वाई-फाई यूज करने की आवश्यकता होती है तो इस बात का ध्यान रखें कि बैंकिंग से जुड़े किसी भी काम को न करें। ऐसा
  • करने से हैकर्स के पास आपके बैंक की डिटेल जा सकती है और आपका अकाउंट से पैसे चोरी हो सकते हैं।
  • पब्लिक वाई-फाई यूज करते समय शेयरिंग ऐप को बंद रखें और किसी भी तरह की शेयरिंग न करें।
  • फ्री वाई-फाई से कनेक्ट होने से पहले उसकी विश्वसनीयता चेक कर लें। साथ ही ये भी ध्यान दें कि कोई अन्य व्यक्ति उस वाई-फाई का इस्तेमाल कर रहा है या नहीं। नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *