गिनीज बुक में कैसे शामिल हो गई ये छोटी कार? जानें क्या है ऐसा खास l देखिए video

गिनीज बुक में कैसे शामिल हो गई ये छोटी कार? जानें क्या है ऐसा खास l देखिए video

World’s smallest car बेशक आपने कई तरह की कारें देखी होंगी, लेकिन यह कार अपने आप में अनोखी है, क्योंकि यह दुनिया की सबसे छोटी कार है। हम बात कर रहे हैं Peel P50 (पील पी50) के बारे में, जो महज 134 सेंटीमीटर की है। इसे पील नाम की कंपनी ने बनाया है और इसके मालिक एलेक्स ऑर्चिन है। तो चलिए अपने आप में अनोखी इसस कार के बारे में जानते हैं।

साइज की बात करें तो पील P50 केवल 134 सेमी लंबी, 98 सेमी चौड़ी और सिर्फ 100 सेमी ऊंची है। इसके आलवा, इसका वजन भी महज 59 किलोग्राम है। अपने इस छोटे साइज की वजह से ही 2010 में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guinness Book of Records) में इसका नाम दुनिया की सबसे छोटी कार के रूप में दर्ज किया गया।

यह है दुनिया की सबसे छोटी कार Peel P50, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी है नाम

छोटे साइज के साथ मिलती है दमदार माइलेज

पील पी50 अपने साइज में भले ही छोटी है, लेकिन यह दमदार माइलेजदेने में सक्षम है। पील पी50 में 49cc का सिंगल-चेंबर, 2-स्ट्रोक बाइक इंजन है, जो 4.2bhp की पावर और 5Nm का पीक टॉर्क देने में सक्षम है। इसके अलावा, यह कार एक 3-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स के साथ आती है, 61 किमी प्रति घंटे की टॉप स्पीड मिलती है, जो कि औसतन 38 मील प्रति घंटे के बराबर है।

कार की पूरी बॉडी मोनोकोक फाइबर ग्लास से बनी है, जिसमें सस्पेंसन दो पैडल एक कंट्रोलिंग व्हील, एक शिफ्टर, और एक स्पीडोमीटर फीचर्स को शामिल किया गया हैं। इस वजह से बहुत हल्की भी है।

World Smallest Car: दुनिया की सबसे छोटी कार, एक लीटर पेट्रोल पर दौड़ती है  42 किलोमीटर | TV9 Bharatvarsh

अपडेट के साथ मौजूद है नया मॉडल

इस कार को पहली बार 1962 और 1965 के बीच बनाया गया था। बाद में इसका उत्पादन 2010 में फिर से शुरू किया गया था। नया पी50 लंदन में बनाया गया है और मॉडल को कुछ नया स्वरूप मिला है। वर्तमान में नई पी50 की कीमत 84 लाख रुपये से भी ज्यादा है। इसके आलवा एक इलेक्ट्रिक वर्जन E50 को भी पेश किया गया है। नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *