दुनिया के टॉप 10 बेकार पड़े मेगाप्रोजेक्ट्स

दुनिया के टॉप 10 बेकार पड़े मेगाप्रोजेक्ट्स

भारत एक विकासशील देश है जो तेज़ी से विकसित हो रहा और आने वाले कुछ समय मे चीन अमेरिका की तरह विकसित हो जाएगा। भारत को विकसित बनाने के लिए बहुत सी योजनाएं और प्रोजेक्ट पर काम चल रहा जिनके पूरा होते ही भारत देश अलग ही रूप में नज़र आएगा। इस आर्टिकल में हम भारत के Top 10 Biggest mega projects के बारे में।

1.राम मंदिर

कई वर्षों से विवाद में रही राम मंदिर का फैसला कोर्ट के द्वारा आ गया है जिसमे कोर्ट ने राम मंदिर बनाये जाने के आदेश दिए हैं और इसको जल्दी से तैयार करने का लक्ष्य है। इसके लिए मंदिर के प्रोजेक्ट पर तेजी से काम हो रहे और 2024 तक पूरी तरह तैयार हो जाएगी। मंदिर बहुत भव्य होगी जो पूरी अयोध्या की शोभा में चार चाँद लगा देगी। मंदिर बनने के बाद दूर- दूर से लोग आएंगे देश विदेश से मंदिर को देखने, भगवान श्री राम के दर्शन करने । इस तरह अयोध्या एक पर्यटन स्थल बन जायेगा और इसकी प्रसिद्धि बढ़ जाएगी।

2. सेवोके रंगपो रेलवे

हमारे देश मे रेल की यात्रा सभी को पसन्द है और सभी रेल यात्रा को ज्यादा महत्व देते हैं। देश के राज्य सिक्किम को भारतीय रेलवे से जोड़ने की योजना चल रही है। रेल मंत्री पीयूष गोयल द्वारा बजट में इस योजना के लिए 200 करोड़ रुपये का ऐलान किया गया था। सिक्किम के में पहला स्टेशन बनाने की तैयारी चल रही है और 44 किलोमीटर के प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो गया है जो जल्द ही पूरा हो जाएगा। इस राज्य में रेलवे शुरू हो जाने इस राज्य के लोगो को बहुत फायदा होगा और राज्य की शोभा भी बढ़ेगी।

3.काशी विश्वनाथ कॉरिडोर

प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में इस प्रोजेक्ट पर तेज़ी से काम हो रहा है। 50 फ़ीट चौड़ा कॉरिडोर काशी विश्वनाथ मंदिर को बनारस के कई घाट से जोड़ता है। इस प्रोजेक्ट को अगस्त 2021 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इस प्रोजेक्ट की अनुमानित राशि लगभग 800 करोड़ है। जल्द ही इसको पूरा कर जनता को सौप दिया जाएगा जिससे काशी विश्वनाथ भक्त को इस प्रोजेक्ट से लाभ मिल सके।

4. अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा नवी मुंबई

जल्द ही देश के सबसे बड़े शहर मुम्बई में दूसरा इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनने जा रहा है। यह एयरपोर्ट नवी मुम्बई के पनवेल क्षेत्र में बनेगा जो 1160 हेक्टेयर भूमि पर बनाया जाएगा और इस प्रोजेक्ट की लागत 16000 करोड़ होगी। इससे पहले मुम्बई जैसे बड़े शहर में एक ही एयरपोर्ट है जो अंतराष्ट्रीय सेवायें देता है जिस वजह से भीड़ भी बहुत हो जाती है लेकिन इस नए अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट के बन जाने से लोगों के लिए बहुत राहत हो जाएगी।

5.वैदिक मंदिर

पश्चिम बंगाल के नदिया जिले के मायापुर में विश्व का सबसे बड़ा मंदिर बन रहा जिसका प्रथम फ्लोर बनकर लगभग तैयार भी हो गया है। इसको अगले महीने श्रद्धालुओं के लिए खोले जाने की तैयारी है।  दुनिया का सबसे अनोखा मंदिर होगा जिसे आप आधुनिक समय का विशाल महल कह सकते हैं जो अति खूबसूरत झूमरों से सुशोभित है। यहाँ से सभी धार्मिक कार्यक्रमों का लाइव प्रसारण होगा।

6. एलपीजी पाइपलाइन

उत्तर- पूर्व भारत मे हमेशा ही LPG गैस की समस्या रही है जिसको ध्यान में रखते हुए सरकार ने इस समस्या को खत्म करने का निर्णय लिया है। इसके लिए LPG पाइपलाइन की प्रोजेक्ट शुरू की है जो ओडिशा से बंगाल और बिहार तक गैस की आपूर्ति पाइपलाइन द्वारा होगी। इसके लिए 661 किलोमीटर तक पाइपलाइन बिछाए जाएंगे। इस प्रोजेक्त को 2 साल तक पूरा कर लिया जाएगां। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने से बंगाल, बिहार और ओडिशा तीनो राज्यों को फायदा होगा।

7. फ्रेट कॉरिडोर

यह रेलवे के माल ढुलाई से जुड़ा हैं। आने वाले सालो में सरकार अधिक से अधिक माल ढुलाई व माल की सप्लाई ट्रेन से ही करना चाह रही क्योकि ट्रेन से सस्ता व आसान पड़ता है। इसके लिए ही कॉरिडोर प्रोजेक्ट पर काम चल रहा जिसे जल्दी से पूरा करने का लक्ष्य है। यह प्रोजेक्ट तैयार होते ही माल ढोने में आसानी हो जाएगी और ट्रेने 100 से ऊपर स्पीड पर भी जा सकेगी। यह अभी पूर्व और पश्चिम तरफ ही तैयार हो रहा।

8. सुरंग परियोजना

यह टनल हिमाचल प्रदेश के रोहतांग में बनाया जा रहा जो हिमाचल प्रदेश को लेह से जोड़ता है। इस प्रोजेक्ट का नाम बदलकर Atal Tunnel Project व अटल सुरंग कर दिया गया गया है। इस प्रोजेक्ट में कुल 400 करोड़ रूपये खर्च होंगे। यह प्रोजेक्ट 2021 तक तैयार हो जाएगा। इस प्रोजेक्ट से लेह मनाली के बीच 46 किलोमीटर का सफर कम भी हो जाएगा। यह सुरंग 8.8 किलोमीटर लम्बी है और करीब 3000 मीटर की ऊँचाई पर बनाई गई है। यह दुनिया की सबसे लंबी सुरंग होगी।

9. कच्ची दरगाह बिदुपुर पुल

बिहार के लोगों के लिए अच्छी खबर है क्योकि बिहार की राजधानी पटना में गंगा नदी पर चार नए पुल बनेंगे। चारो पुल कुल मिलाकर 24 लेन के होंगे। अगले चार सालों में पुल को तैयार करने की योजना है। अभी फिलहाल में कुल 6 लेंन पुल है बिहार में जिसमें से चार लेन ही अभी चालू हैं। इस प्रोजेक्ट में कुल 1900 करोड़ की लागत लगेगी। इस प्रोजेक्ट को 2021 तक पूरा करने का लक्ष्य है। प्रोजेक्ट तैयार होने के बाद कच्छी दरगाह के पास बना पुल बिहार का सबसे लंबा पुल होगा जिसकी लम्बाई 7.6 किलोमीटर है।

10. 4 लेन ब्रिज साहिबगंज

सरकार ने बिहार के मनिहारी बाईपास से झारखंड के साहिबगंज बाईपास तक लगभग 22 किलोमीटर तक का नया संपर्क मार्ग बनेगा जिसमे गंगा नदी पर 6 किलोमीटर लम्बा पुल भी बनेगा। पुल 4 लेन का होगा जिसमें पूरे प्रोजेक्ट की लागत 1954 करोड़ रुपये होंगे। इस प्रोजेक्ट को पूरा होने में लगभग 4 साल लगेंगे। नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *