बेहद खूबसूरत हैं भारत के ये चाय बागान

बेहद खूबसूरत हैं भारत के ये चाय बागान

चाय शब्द ही भारत का पर्यायवाची बन गया है। भारत के बहुत से लोग दिन में कई बार गर्मा-गर्म चाय पीना पसंद करते हैं। चाय का सबसे महत्वपूर्ण उत्पादक होने के कारण भारत को अपने प्रभावशाली टी-गार्डन पर गर्व है। ज्यादातर लोग चाय पीने के शौकीन होते हैं और उन्हें चाय की महक भी काफी पसंद होती है। अगर आप भी चाय लवर हैं तो आज हम आपको बताएंगे घूमने-फिरने की ऐसी जगहों के बारे में जहां जाकर आपका दिल खुश हो जाएगा। यहां हम आपको भारत के खूबसूरत टी-गार्डन के बारे में बताएंगे। जहां घूमने से आपको प्राकृति की सुंदरता देखने को मिलेगी।

– जोरहाट टी बंगला:

जोरहाट भारत के असम राज्य का एक जिला है, जिसे अक्सर विश्व की चाय की राजधानी भी कहा जाता है। यह भारत का सबसे बड़ा चाय उत्पादक राज्य है। जहां मॉल्टी असमिया चाय ज्यादातर ब्रह्मपुत्र घाटी में उगाई जाती है।

– कूच बिहार टी एस्टेट:

पश्चिम बंगाल में मौजूद यह चाय बागान भारत का सबसे अधिक प्रसिद्ध चाय बागान है। यहां लाखों की संख्या में लोग घूमने के लिए आते हैं। माना जाता है कि इस बागान को 1950 के दशक में वापस स्थापित किया गया है। यह है अपने दोस्त और परिवार के साथ घूमने के लिए एक बहुत ही बेहतर जगह है।

– दारंग टी एस्टेट:

दारंग टी एस्टेट हिमाचल प्रदेश में मौजूद है। जो कि 70 एकड़ में फैला हुआ है। यह ऊंचे पहाड़ों में स्थित है और यह बागान लाखों सैलानियों की भी मेजबानी करता है। यदि आप यहां घूमने के लिए जाते हैं तो बागान के बगल में रुकने के लिए खास रूप से घरों का निर्माण भी किया गया है।

– गटोंगा टी एस्टेट:

गटोंगा टी एस्टेट नॉर्थ ईस्ट के राज्य असम में स्थित है, जो बहुत ही प्रसिद्ध चाय बागान है। ब्रिटिश काल मै इसी बागान से चाय विदेशी में बेचीं जाती थी। कई साल बाद ब्रिटिश हुकूमत का राज होने के बाद इस बागान को मुक्त किया गया। इस बागान से आप ऊंचे ऊंचे पहाड़ों को देखने का लुफ्त मजा उठा सकते हैं।

– केलगुर टी एस्टेट:

केलगुर टी एस्टेट साउथ इंडिया के कर्नाटक शहर में स्थित है, जोकि बहुत ही फेमस है। शायद ही आप जानते हो कि इस बागान को दुनिया का सबसे बड़ा ऑर्थोडॉक्स टी एस्टेट माना जाता है। ये लगभग 15 सौ एकड़ में फैला हुआ है।

– हैप्पी वैली टी एस्टेट:

दार्जिलिंग भारत का सबसे पॉपुलर हिल स्टेशन होने के साथ-साथ प्रमुख टी गार्डन का क्षेत्र भी है। वहां हर तरफ चाय की खेती होती है। यहां की चाय की खास बात यह है कि यह हल्के रंग की होती है और इसमें से फूलों की महक भी आती है। दार्जिलिंग में भारत के कुल चाय का लगभग 25 प्रतिशत उत्पादन होता है। यहां आपको हैप्पी वैली टी एस्टेट देखने को मिलेगा।

– कानन चाय बागान:

कानन चाय बागान केरल में स्थित है, जो दक्षिण भारत के सबसे बड़े और सबसे फेमस चाय बागानों में से एक है। यह बागान कानन देवन हिल्स टी एस्टेट के नाम से भी जाना जाता है।

– कोलुकुमलाई टी एस्टेट:

तमिलनाडु में स्थित कोलुकुमलाई टी एस्टेट दुनिया का सबसा ऊंचा टी गार्डन कहा जाता है। यह चाय अपने अनुठे स्वाद और सुगंध के लिए जाना जाता है। यह मुन्नार शहर से लगभग 32 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां घूमने से आपको शांति और खुशनुमा एहसास मिलेगा।

– नीलगिरि चाय बागान:

भारत में नीलगिरि पहाड़ इसलिए मशहूर है क्योंकि यहां 100 साल से चाय उगाई जा रही है। नीलगिरि पहाड़ पर कई तरह के चाय के पौधे होते हैं जिनकी खुशबू बेहतरीन होती है। नीलगिरी के पास कुनूर है जहां पर पर्यटक कई सुंदर टी-गार्डन का मजा लें सकते हैं।

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *