बैगपैक पर सिर्फ डिजाइन के लिए नहीं होता डायमंड शेप पैच, इसलिए भी आता है काम l देखिए video

बैगपैक पर सिर्फ डिजाइन के लिए नहीं होता डायमंड शेप पैच, इसलिए भी आता है काम l देखिए video

बच्चों से लेकर बड़ों तक अक्सर सभी लोग बैगपैक का इस्तेमाल करते हैं. बैगपैक पर एक छोटा सा डायमंड पैच बना होता है. उस डायमंड पैच के अंदर दो कट भी लगे होते हैं. बैगपैक पर ये डायमंड पैच देखने में अच्छा लगता है. लेकिन क्या बैगपैक पर दिया डायमंड पैच सिर्फ डिजाइन के लिए बना होता है? आइए जानते हैं क्यों बैगपैक पर होता है डायमंड शेप पैच.

कई लोगों को अक्सर लगता है कि बैगपैक पर बना डायमंड शेप पैच सिर्फ एक डिजाइन का हिस्सा है. लेकिन ऐसा नहीं है. दरअसल, बैगपैक पर बना डायमंड शेप पैच सिर्फ डिजाइन के लिए नहीं होता. बल्कि इसको बहुत सोच-समझकर बनाया गया था. बैगपैक पर बने डायमंड शेप पैच को ‘Lash Tab’ कहा जाता है.

Real Purpose of Diamond slits on backpacks (Bright Side Youtube)

आपने बैगपैक में बहुत से ऑउटसाइड पॉकेट देखी होंगी. आपने देखा होगा बैगपैक के साइड में बॉटल रखने की जगह, बैग के ऊपर की पॉकेट में छोटी-मोटी चीजों को रखने की जगह दी होती है. बैग के ऊपर बना डायमंड शेप पैच भी ठीक इसी तरह का काम करता है. आप इस डायमंड शेप पैच का इस्तेमाल अपने साथ कुछ एक्स्ट्रा चीजें ले जाने के लिए कर सकते हैं.

बैगपैक पर बना डायमंड शेप पैच उन लोगों के लिए बेहद उपयोगी होता है, जिन्हें पहाड़ों पर ट्रेकिंग करना पसंद होता है. मान लीजिए आप किसी पहाड़ पर ट्रेकिंग कर रहे हैं और आपको अपने साथ अपने जूते ले जाने हैं. ऐसी स्थिति में आप जूते के फीतों को डायमंड शेप पैच में बने कट में बांधकर अपने साथ ले जा सकते हैं. ऐसा करने से आपके जूते बैग में एक्स्ट्रा जगह भी नहीं लेंगे.

Real Purpose of Diamond slits on backpacks (Bright Side Youtube)

कई बार लोग खेल-कूद कर आते हैं. ऐसा करने में उनके जूते बुरी तरह धूल-मिट्टी और कीचड़ में सने होते हैं. ऐसी स्थिति में भी आप इस डायमंड शेप पैच का इस्तेमाल कर जूतों को बैग के बाहर बांधकर अपने साथ ले जा सकते हैं.नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल) [ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. EkBharat News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Rutvisha patel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *